Hit enter after type your search item
khbr.xyz

सभी खबरे एक ही जगह

Home / Fact Check / Fact Check : रोते और लिपटे बच्चो की तस्वीर दिल्ली की नहीं बल्कि सीरिया कि 6 साल पुरानी है

Fact Check : रोते और लिपटे बच्चो की तस्वीर दिल्ली की नहीं बल्कि सीरिया कि 6 साल पुरानी है

/
/
/
17 Views

सोशल मीडिया पर एक तस्वीर वायरल हो रही है जिसमें तीन बच्चे एक दूसरे को गले लगाए रोते हुए नज़र आ रहे हैं।

हमें यह तस्वीर “Akshay Reddy AAP” नाम के फेसबुक पेज पर मिला जिसमें अंग्रेजी में इस इमेज के साथ कैप्शन लिखा हुआ है जिसका हिंदी अनुवाद करेंगे तो कुछ इस तरह होगा “यह मेरी स्थायी स्मृति में रहेगा कि नरेंद्र मोदी ने मेरे देश के लिए क्या किया है…”

जब हमने इस तस्वीर की जांच की तो पता चला कि इस तस्वीर के साथ दावा किया जाने वाला बात बिल्कुल गलत है और इसके जरिए अफवाह फैलाई जा रही है आइए जानते हैं क्या है इसकी सच्चाई।

हमें जांच के दौरान यह तस्वीर इसी जानकारी के साथ फेसबुक पर कई यूजर्स ने भी पोस्ट और शेयर की है. इनमें से एक पोस्ट का आर्काइव वर्जन यहां से देखा जा सकता है.

इमेज की जांच के लिए हमने गूगल रिवर्स सर्च का मदद लिया जिसमें यह इमेज हमें Getty Images वेबसाइट पर मिला इस वेबसाइट पर इमेज के साथ जो कैप्शन में लिखा गया है अगर उनका हिंदी अनुवाद करें तो यह होगा “14 मई 2014 को उत्तरी सीरिया के शहर अलेप्पो से सटे साहूर में अपने घर पर बमबारी के बाद बच्चों को सांत्वना देती एक सीरियाई महिला. अलेप्पो में एक समय करीब ढाई लाख निवासियों के घर थे और यह सीरिया का आर्थिक केंद्र माना जाता था. 2012 के मध्य में सीरिया में संघर्ष शुरू होने के बाद अलेप्पो पर नियंत्रण को लेकर कुछ समय तक सरकार और विपक्ष के बीच गतिरोध सामने आया था.”

इसके साथ हमने इस इमेज को कई न्यूज़ वेबसाइट पर देखा “The Jordan Times ” और “CBS News ” पर 2014 में 14 मई को प्रकाशित एक लेख की पिक्चर गैलरी में यह तस्वीर प्रकाशित हो चुकी है जहां इस तस्वीर के बारे में बताया गया है यह तस्वीर सीरियाई संघर्ष की तस्वीर है।

हाल ही में दो समुदायों के बीच भारत की राजधानी दिल्ली में बड़े पैमाने पर हिंसा हुई इस हिंसा के साथ ही सोशल मीडिया पर कई सारे फर्जी दावे के साथ तस्वीरें और वीडियो को प्रसारित और शेयर किया जा रहा है।

लेकिन हमारे इस पड़ताल में वायरल तस्वीर भारत की नहीं बल्कि सीरिया का है इसके साथ दावा किया जा रहा बात बिल्कुल गलत है।

इस तरह पड़ताल से यह साफ हुआ कि वायरल हो रही यह तस्वीर भारत की नहीं बल्कि सीरिया की है.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This div height required for enabling the sticky sidebar
Ad Clicks :Ad Views : Ad Clicks :Ad Views : Ad Clicks :Ad Views : Ad Clicks :Ad Views : Ad Clicks :Ad Views : Ad Clicks :Ad Views : Ad Clicks :Ad Views :